#hindi

8873 quotes

कभी एक क्षण तुम्हारा प्रेम,
इतना घनीभूत हो जाता है,
मेरे वजूद का खो जाना भी,
मुझे स्वीकार्य हो जाता है।
जब मेरा 'मैं' तुम में विलीन हो जाता है, 
बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है,
फिर मेरा रूकना मुझे जरूरी-सा लगता है,
उस एक क्षण के लिए मैं सब छोड़ आती हूँ,
और तुम्हारे साथ होने के लिए थम जाती हूँ।
पर पलक झपकते ही वह पल,वह प्रेम,
और तुम्हारे मन में प्रतिष्ठित मेरी छवि,
सबकुछ,कपूर की तरह उड़ जाते हैं,
क्षण और परिवर्तन का सच जान कर,
मेरे पग अपने कर्मपथ पर मुड़ जाते हैं,
सत्य को सुंदर मान कर, मैं मुस्कुराती हूँ
अपनी व्यस्तताओं के बीच लौट जाती हूँ।

कभी एक क्षण तुम्हारा प्रेम, इतना घनीभूत हो जाता है, मेरे वजूद का खो जाना भी, मुझे स्वीकार्य हो जाता है। जब मेरा 'मैं' तुम में विलीन हो जाता है, बाहर निकलना मुश्किल हो जाता है, फिर मेरा रूकना मुझे जरूरी-सा लगता है, उस एक क्षण के लिए मैं सब छोड़ आती हूँ, और तुम्हारे साथ होने के लिए थम जाती हूँ। पर पलक झपकते ही वह पल,वह प्रेम, और तुम्हारे मन में प्रतिष्ठित मेरी छवि, सबकुछ,कपूर की तरह उड़ जाते हैं, क्षण और परिवर्तन का सच जान कर, मेरे पग अपने कर्मपथ पर मुड़ जाते हैं, सत्य को सुंदर मान कर, मैं मुस्कुराती हूँ अपनी व्यस्तताओं के बीच लौट जाती हूँ। #yqdidi#yqbaba#hindi

YESTERDAY AT 23:53

चाहे कितने ही करले सितम।
इस गरीब बेक़सूर दिल पर।

इक दिन उस पैसों के दिल को,
पिघलना तो पड़ेगा।

रह जायेगी ये  बनाबटी जागीरें सब।
मिट्टी में इक दिन,
उस रावण को भी मिलना तो पड़ेगा।

भूल रहा शैतान इन चार पैसों के ग़ुरूर में।
कि छोड़कर तन से भी कपडा,
इक दिन आग में जलना तो पड़ेगा।

                                           ....#आयु

#YQBABA#सितम#HINDI#अग्नीदहन

YESTERDAY AT 23:31