#%E0%A4%B9%E0%A4%AE

85 quotes

उसने क्या किया,मैने क्या किया...इसका हिसाब किसने किया,
सच्चाई तो बस इतनी सी है
पास थे तो हम थे...दूर हैं तो हम हैं।

#हम = मैं + तुम तीसरे कि जगह नहीं होती...तङपते केवल हम ही हैं, इसलिए किसी को कोई हिसाब देने की जरूरत नहीं...अगर प्यार है तो बस एक दूसरे को प्यार दो।

19 MAY AT 20:57

  ये दिल्ली

अभी निर्भया को इंसाफ मिला ही था कि
तभी दिल देहला गयी फिर से शर्मसार होती ये दिल्ली,
यहाँ खबरों में आई एक खबर नए हादसे की ,
जहाँ दिल्ली की सड़को पर उस रात गाड़ी ने सफ़र नहीं किया
बल्कि एक लड़की की चीखों ने किया ....
किया सफ़र उसकी लूटती इज्ज़त और बर्बाद होती आबरू ने..

दिल्ली एक बार फिर से माहौल ऐसा बना गयी कि
दरिंदगी भी खुलेआम सीना ताने बेख़ौफ़ सड़को पर घूम रही हैं 
घूम रही है ये बतलाते कि
औरत की आज़ादी अब पन्नों में ही दफ़्न हो रही हैं
इस खौफ के डर से हर औरत
खुद को ही कैद कर रहीं हैं
क्यूँकि बलात्कारी न रंग देखता है न रूप न जात-पात का भेदभाव
ना ही करता है वो उम्र की सीमा का कोई लिहाज़, वो तो बस
करता हैं शिकार

शर्मसार होती ये दिल्ली फिर से बतला गयी कि 
देश की राजधानी में ही हम safe नहीं!!!

#हम safe नहीं...

18 MAY AT 0:29

Bikhar jaane do, ab yeh jazbaat
Sudhar jaane do, kuch toh halaat

Kab tak yun khafa rahenge, hum dono
Ab toh ho jaane do, koi haseen baat

बिख़र जाने दो, अब यह जज़्बात 
सुधर जाने दो, कुछ तो हालात

कब तक यूँ खफ़ा रहेंगे, हम दोनों
अब तो हो जाने दो, कोई हसीन बात

- साकेत गर्ग

"..अब तो हो जाने दो, कोई हसीन बात.." Bikhar jaane do, ab yeh jazbaat Sudhar jaane do, kuch toh halaat Kab tak yun khafa rahenge, hum dono Ab toh ho jaane do, koi haseen baat बिख़र जाने दो, अब यह जज़्बात सुधर जाने दो, कुछ तो हालात कब तक यूँ खफ़ा रहेंगे, हम दोनों अब तो हो जाने दो, कोई हसीन बात - साकेत गर्ग #बिख़र #जज़्बात #जज्बात #हालात #खफ़ा #खफा #khafa #हम #hum #दोनों #हम_दोनों #HumDono #हसीन #haseen #बात #हिंदी #Hindi #YQHindi #Love #YQBaba #YQDidi #SaGa

17 MAY AT 2:10

तेरा प्यार मेरे लिए स्वर्ण सरीखा है 
जिसे मैंने खुद पर गहनों सा सजाया है
लेकिन तू जो अब मुझे बांधनें लगा है
सच कहती हूं ये गहना मुझे चुभने लगा है
तेरा यूं काम करने से पहले मेरे हाथ रोक लेना
ऐसा प्यार मेरे हाथों में हथकड़ी सा लगता है
मेरे आगे बढ़ते कदमों को तू रोक देता है
तेरा ये प्यार मुझे पैरों की बेड़ियां लगता है
जब तू मुझे सर उठाकर जीने से मना कर देता है
तो सर पर तेरा ये प्यार कांटों का ताज लगता है
तूने अपने प्यार से मुझे सजाया है
फिर क्यों मुझे जंजीरों में जकड़ रहा है 
तेरी बांहों में रहना चाहती हूं
लेकिन तू मुझे यूं कैद करले ऐसा प्यार नहीं चाहती हूं ।।

#प्यार कभी कभी बेड़ियां भी बन जाता है #हम प्यार करते है इसका मतलब ये कतई नहीं है कि उसकी ज़िदंगी का हर फैसला लेने का हक हमें मिल गया है #सामने वाला भी इंसान है उसकी भी अपनी आरजू है कुछ सपने है जिनके बारे में फैसले लेने का हमें कोई हक नहीं है ।।#प्यार#गहना#बेड़िया#yq#yqbaba#yqdidi#mdbhuradia

15 MAY AT 19:07